आपकी दोस्ती की एक नजर चाहिए, दिल है बेघर उसे एक घर चाहिए, बस यूं ही साथ चलते रहना ऐ दोस्त, आपकी दोस्ती हमे उमर भर चाहिए।

ऐ बारिश जरा थम के बरस, जब मेरा यार आए तो जम के बरस, पहले ना बरस की वो आ न सके, फिर इतना बरस की वो जा न सके।

दोस्तों की दोस्ती में कभी कोई रूल नहीं होता है और ये सिखाने के लिए कोई स्कूल नहीं होता है

यारों की यारी भी खिचड़ी से कम नहीं स्वाद भले ही न रहे पर कमबख्त भूख मिटा देती है।

कभी हमारी दोस्ती पर शक हो तो अकेले में एक सिक्का उछालना,  अगर हेड आया तो हम दोस्त और  टेल आया तो पलट देना यार अकेले में कौन देखता है!

कुछ रिश्ते रब बनाता है,  कुछ रिश्ते लोग बनाते हैं। पर कुछ लोग बिना किसी रिश्ते को रिश्ते निभाते हैं शायद वो ही दोस्त कहलाते हैं।

एक जैसे दोस्त सारे नहीं होते कुछ हमारे होकर भी हमारे नहीं होते आपसे दोस्ती करने के बाद महसूस हुआ कौन कहता है तारे जमीन पर नहीं होते।